होम » फीचर » अमिताभ बच्चन के दम

Advertisement

बर्थडे स्पेशल: अमिताभ बच्चन के ये 10 जोशीले डायलॉग आपके अंदर भी जगा देंगे जोश

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) आज अपना 77 वां जन्मदिन मना रहे है। इस महानायक के जन्मदिन पर उनके कुछ यादगार डायलॉग जिसने रच दिया बॉलीवुड में इतिहास। चलिए एक बार फिर देखते हैं उन डायलॉग को।

2,554

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) आज अपना 77 वां जन्मदिन मना रहे है। वहीं इस महानायक को दुनियाभर से बधाईयां मिल रही है। हर कोई उनकी फिल्मो में उनके किरदार को याद कर उन्हें बधाई दे रहा है। यहां तक कि फिल्मों में उनके प्रसिद्ध डायलॉग को भी लोग याद कर रहे हैं। तो चलिए हम इस महानायक के जन्मदिन पर उनके कुछ यादगार डायलॉग को आपके सामने पेश करते हैं।

Advertisement

आमिताभ बच्चन के यह 10 यादगार डायलॉग

1 डॉन

डॉन

डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

2  नमक हलाल

 नमक हलाल

आई कैन टॉक इंग्लिश, आई कैन वॉक इंग्लिश, आई कैन लॉफ इंग्लिश, बिकोज इंग्लिश इज ए वैरी फन्नी लैंग्वेज

3 कालिया

कालिया

हम भी वो हैं, जो कभी किसी के पीछे खड़े नहीं होते, जहां खड़े हो जाते हैं, लाइन वहीं से शुरू हो जाती है

4  शहंशाह

 शहंशाह

रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप होते हैं, मगर नाम है शहंशाह।

5 शराबी

शराबी

मूछें हो तो नत्थूलाल जैसी, वर्ना ना हों

6 दीवार

दीवार

आज मेरे पास बैंक बैलेंस है, बंगला है गाडी है, तुम्हारे पास क्या है?

7 दीवार

दीवार

मैं आज भी फेंके हुए पैसे नहीं उठाता।

8 अग्निपथ

अग्निपथ

पूरा नाम विजय दीनानाथ चौहान, बाप का नाम दीनानाथ चौहान, मां का नाम सुभाषिनी चौहान, गांव मांडवा, उमर 36 साल

9 जंजीर

जंजीर

ये पुलिस स्टेशन है, तुम्हारे बाप का घर नहीं।

10 पिंक

पिंक

‘ना’ का मतलब ‘ना’ ही होता है, ‘ना’ सिर्फ एक शब्द नहीं बल्कि एक वाक्य होता है, ‘ना’ अपने आप में इतना मजबूत होता है कि इसे किसी भी व्याख्या, एक्सप्लेनेशन या तर्क-वितर्क की जरूरत नहीं होती ‘ना’ को जबरदस्ती ‘हां’ में नहीं बदला जा सकता।

Advertisement