होम » रिव्यू » बाग़ी 3 मूवी रिव्यू: कहानी कमज़ोर पर मनोरंजक है ये एक्शनपैक्ड ब्रोमांस

Advertisement

बाग़ी 3 मूवी रिव्यू: कहानी कमज़ोर पर मनोरंजक है ये एक्शनपैक्ड ब्रोमांस

टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff) की एक्शनपैक्ड बागी की तीसरी कड़ी आखिरकार रिलीज़ हो गई है। ट्रेलर देखकर फैंस बेहद उत्साहित हैं। पर क्या ये फिल्म आपका मनोरंजन कर पाएगी? आइये जानते हैं।

368
  • सिनेमा – बाग़ी 3
  • सिनेमा प्रकार – एक्शन
  • अदाकार – टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर, रितेश देशमुख, अंकिता लोखंडे
  • निर्देशक – अहेमद खान
  • अवधि – 2 घंटे 27 मिनट

Advertisement

प्रस्तावना

टाइगर श्रॉफ की एक्शनपैक्ड बागी की तीसरी कड़ी आखिरकार रिलीज़ हो गई है। ट्रेलर देखकर फैंस बेहद उत्साहित हैं। पर क्या ये फिल्म आपका मनोरंजन कर पाएगी? आइये जानते हैं।

कहानी

बाग़ी 3 एक एक्शनपैक्ड ब्रोमांस हैं जिसे फरहाद सामजी ने लिखा है। रॉनी (टाइगर श्रॉफ) और विक्रम (रितेश देशमुख ) दोनों भाई एक दूसरे से बेहद मोहब्बत करते हैं। हालांकि दोनों एक दूसरे से बेहद अलग हैं। रॉनी वन मैन आर्मी है तो विक्रम बेहद मासूम। विक्रम पुलिस महकमे का अफसर बन जाता है। इसी दौरान अंजाने मे कुछ आतंकियों से विक्रम की दुश्मनी हो जाती है। जिसका नतीजा ये होता है कि दुनिया का सबसे बड़ा आतंकी अबू जलाल आगा विक्रम का अपहरण कर लेता है।

फिर क्या रॉनी अपने सिर पर कफन बांध कर भाई की जान बचाने निकाल पड़ता है। जिसमे उसकी जिएफ सिया (श्रद्धा कपूर) भी उसका साथ देती है। क्या रॉनी विक्रम को छुड़ा पाता है? रॉनी को किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है? ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

अदाकारी

टाइगर श्रॉफ ने ज़बरदस्त एक्शन की है। हालांकि कई जगह तो हद से ज़्यादा कर दी है। उम्मीद है उनके फैंस ये बर्दाश्त कर लेंगे। रितेश देशमुख ने बेहद मासूम व्यक्ति की भूमिका निभाई है। भाई-भाई मे जो प्यार होता है वो इन दोनों का प्यार देखकर महसूस होता है। श्रद्धा कपूर कई जगह अच्छी लगती हैं, पर कई जगह ऐसा भी लगता है कि वो और बेहतर हो सकती थीं। अंकिता लोखंडे, विजय वर्मा कि भूमिका छोटी है लेकिन दोनों ने अच्छी अदाकारी की है।

निर्देशन छायांकन

अहेमद खान ने अच्छा काम किया है लेकिन कई जगह उन्होने हद से ज़्यादा एक्शन भर दिया है। इसे कम करते तो शायद और बेहतर लगता। छायांकन भी कुछ इसी तरह से है।

संगीत

फिल्म मे बेवजह गाने नहीं रखे गए हैं। भंकस और डू यू लव मी लुभाते हैं। बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है।

  1. खास बातें
  2. जबरदस्त एक्शन।
  3. प्यारा ब्रोमांस।
  4. परिवार के साथ देख सकते हैं।

कमजोर कड़ियाँ

  1. कहानी मे नई बात नहीं।
  2. वीएफएक्स कमजोर हैं।
  3. संवाद बेहतर हो सकते थे।
  4. दूसरे हिस्सा धीमा लगता है।

देखें या ना देखें

आप टाइगर और एक्शन के फैंस हैं तो इस फिल्म को देखें। यदि आप अपने भाई से बहुत प्यार करते हैं तो ये फिल्म ज़रूर देखें।

रेटिंग 3/5

Advertisement