Advertisement

भूत-द हॉन्टेड शिप: पहला हिस्सा दमदार पर दूसरा हिस्सा कमज़ोर

फिल्म अपने नाम भूत: द हॉन्टेड शिप (Bhoot – Part One: The Haunted Ship) नाम के मुताबिक एक हॉन्टेड शिप की कहानी है। मुंबई समुद्री तट पर एक रात अचानक विशालकाय सी-बर्ड शिप आकर रुक जाता है।

371
  • सिनेमा – भूत
  • सिनेमा प्रकार – हॉरर
  • अदाकार – विक्की कौशल, भूमि पेडनेकर, आशुतोष राणा
  • निर्देशक– भानु प्रताप सिंह
  • अवधि – 2 घंटे 54 मिनट

Advertisement

प्रस्तावना

हॉरर भूत: द हॉन्टेड शिप (Bhoot – Part One: The Haunted Ship) ट्रेलर रिलीज़ होने के बाद से ही चर्चा मे है। हॉरर फिल्मों के शौकीन इस फिल्म का बेकरारी से इंतज़ार कर रहे हैं। पर क्या ये फिल्म आपको डरा पाएगी या नहीं? आइये जानते हैं।

कहानी

फिल्म अपने नाम भूत: द हॉन्टेड शिप के मुताबिक एक हॉन्टेड शिप की कहानी है। मुंबई समुद्री तट पर एक रात अचानक विशालकाय सी-बर्ड शिप आकर रुक जाता है। नौसेना अधिकारी सुमित देसाई (विक्की कौशल) (vicky kaushal) जांच के लिए शिप पर जाता है। जहां उसके साथ अजीबोगरीब घटनाएं घटती हैं। जैसे-जैसे सुमित जांच करता जाता है तो कई दिलचस्प खुलासे होते जाते हैं। सी बर्ड कहां से आता है? इसे हॉन्टेड शिप क्यों कहा जाता है? क्या सुमित इस गुत्थी को सुलझाने मे कामयाब होता है? इन सवालों के जवाब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

अदाकारी

भूत: द हॉन्टेड शिप की कहानी विक्की कौशल के इर्द-गिर्द घूमती है। विक्की ने संजीदा नौसेना अधिकारी की भूमिका निभाई है। शुरू से आखिर तक विक्की कौशल लय मे नज़र आते हैं। भूमि पेडनेकर की भूमिका इतनी छोटी है कि उनके होने या ना होने से कोई फर्क नहीं पड़ता। आशुतोष राणा भी उनकी छवि के अनुसार प्रभावी नहीं लगते हैं। मेहर वीज छोटी सी भूमिका मे प्रभावित करती हैं। बाकी के कलाकारों ने भी ठीक ठाक अदाकारी की है।

निर्देशन और छायांकन

भानु प्रताप सिंह ने निर्देशन की बागडोर संभाली है। तो पुष्कर सिंह ने छायांकन किया है। पहले हिस्से मे दोनों का काम सराहनीय है। लेकिन दोनों ही दूसरे हिस्से मे कमज़ोर लगते हैं।

संगीत

बॅकग्राउंड स्कोर अच्छा है।

खास बातें

  1. कहानी दिलचस्प है।
  2. पहला हिस्सा बांधे रखता है।
  3. पहले हिस्से मे डराती भी है।
  4. बॅकग्राउंड स्कोर शानदार है।

कमजोर कड़ियाँ

  1. दूसरा हिस्सा बेहद कमजोर है।
  2. डायलॉग और बेहतर हो सकते थे।
  3. विक्की कौशल के अलावा दूसरे कलाकारों का उपयोग भी और अच्छे से किया जा सकता था।
  4. कुछ प्रश्नों के उत्तर नहीं मिलते हैं।

देखें या ना देखें

अगर आप हॉरर फिल्मों के शौकीन हैं तो ज़्यादा उम्मीदें ना रखते हुए इस फिल्म को देख सकते हैं।

रेटिंग 2.5/5

Advertisement