होम » संपादकीय » कंगना रनौत, बवाल और बैन!

Advertisement

कंगना रनौत, बवाल और बैन!

कंगना  नाकाम हुई तो उनकी बहन रंगोली ने चाल चल दी। हमेशा की तरह रंगोली ने अपनी मानसिकता का प्रमाण देते हुए घोषणा कर दी कि जब से कंगना, पीएम मोदी से मिली हैं तब से पत्रकार उसके खिलाफ़ हो गए हैं।

42

बॉलीवुड की ‘क्वीन’ (विवादित) कंगना रनौत (Kangana Ranaut) पिछले कई सालों से लगातार कई सितारों को निशाना बना रही हैं। शायद ही ऐसा कोई दिन होगा जब कंगना ने कोई विवाद खड़ा न किया हो। कंगना के इन विवादों में घी डालने का काम करती हैं उनकी बहन रंगोली चंदेल (Rangoli Chandel)। कंगना का सारा काम-काज संभालने वाली रंगोली का सोशल मीडिया हैंडल देखकर आपको इस बात का अंदाजा हो जाएगा।

Advertisement

कंगना और रंगोली ने आदित्य पंचोली से लेकर ऋतिक रोशन तक, कृष से लेकर अनुराग कश्यप तक, करण जौहर से लेकर विकास बहल तक और आलिया भट्ट से लेकर तापसी पन्नू तक कई सितारों के बारे में बेतुकी टिप्पणियां कीं। लेकिन गौर करने वाली बात यह है की इनमे से एक भी आरोप आज तक सच साबित नहीं हो पाया है।

ईमानदार और सभ्य पत्रकार पर लगाए बेतुके आरोप

अब ऐसा लगता है कि मानो इन दोनों बहनों को बवाल करने की लत सी लग गई है। इसका जीता-जागता सबूत हाल ही में हुए एक इवेंट में देखने मिला। एक सभ्य और ईमानदार पत्रकार के सटीक सवाल पर कंगना का माथा ठनका। फिर क्या ‘क्वीन’ (स्व घोषित) ने आव देखा ना ताव पत्रकार पर एक के बाद एक कई गंभीर आरोपों के तीर चलाने लगीं। तब तक तीर चलाती रहीं जब तक तरकश खाली ना हुआ। पत्रकार ने भी बिना डगमगाए पूरी हिम्मत से कंगना के हर आरोप को गलत साबित कर दिया।

रंगोली चंदेल ने चली चाल

कंगना  नाकाम हुई तो उनकी बहन रंगोली ने चाल चल दी। हमेशा की तरह रंगोली ने अपनी मानसिकता का प्रमाण देते हुए घोषणा कर दी कि जब से कंगना, पीएम मोदी से मिली हैं तब से पत्रकार उसके खिलाफ़ हो गए हैं।

Source -Twitter

हालांकि यह सब करते हुए कंगना और रंगोली शायद भूल गए कि अबकी बार वो पत्रकारों से ‘पंगा’ ले रही हैं, उन्हीं पत्रकारों से जिन्होंने आम कंगना को बॉलीवुड की ‘क्वीन’ बनाने में अहम योगदान दिया था। आरोप पत्रकार पर लगे थे इसलिए पत्रकारों को कंगना और रंगोली के इस बवाल (नौटंकी) की सच्चाई समझने में ज़्यादा देर नहीं लगी। ख़ासकर झूठ को सच साबित करने के लिए या बौखलाहट में पीएम नरेंद्र मोदी का नाम बीच में घसीटना पत्रकारों को नागवार गुज़रा। एक तो झूठ और ऊपर से सीनाज़ोरी देख तक़रीबन पत्रकारों ने कंगना और रंगोली पर बैन लगाने की ठान ली है। पत्रकारों ने एंटरटेनमेंट जर्नालिस्ट गिल्ड ऑफ़ इंडिया (EJGI) का गठन कर निर्माता एकता कपूर से शिकायत की।

निष्कर्ष

खैर, पूरे मामले पर गौर करने के बाद ऐसा लगता है कि मीडिया से खामखा ‘पंगा’ लेकर ‘जज’मेंटलगिरी करना, कंगना और रंगोली की अब तक की सबसे बड़ी ग़लती है। यदि अब भी दो बहनों का जोड़ा इससे कोई नसीहत नहीं लेगा तो बाद में बहुत पछताएगा (वैसे इससे दूसरे सितारे भी नसीहत ले सकते हैं)। मैं ‘जज’मेंटल तो नहीं पर हां एक समझदार पत्रकार ज़रूर हूं और “समझदार को इशारा काफ़ी होता है!”

Advertisement