Advertisement

कोरोनावायरस से संक्रमित कनिका को अस्पताल में मिल रहा है ऐसा खाना, जानें पूरी डाइट

कनिका (kanika kapoor) को लखनऊ के संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में भर्ती कराया गया हैं। एक इंटरव्यू में

1,775

‘सिंगर’ कनिका कपूर(Kanika Kapoor) के कोरोना(corona) ‘पॉजिटिव’ पाए जाने के बाद से ही हड़कंप मचा हुआ है।  कनिका कपूर को लेकर रोज नए विवाद सामने आ रहे हैं।अब अस्पताल में सुविधाओं को लेकर विवाद शुरू हो गया है। इस मामले पर अस्पताल प्रबंधन और कनिका कपूर के अलग -अलग बयान हैं।

Advertisement

कनिका को लखनऊ के संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में भर्ती कराया गया हैं। एक इंटरव्यू में अस्पताल के उच्च अधिकारी ने बताया कि कनिका को फ्री खाना दिया जा रहा है, उन्हें एयर कंडीशन रूम दिया गया हैं, जिसमें अटैच टॉयलेट भी है। जिसके बाद कमरे में गंदगी और मच्छर का सवाल ही नहीं उठता।
कनिका के लिए कमरे में टीवी की व्यवस्था भी की गई हैं।

कनिका भी अस्पताल में आम मरीज की तरह नहीं बल्कि सेलिब्रिटी की तरह पेश आ रही हैं। वें घर के खाने की मांग कर रही हैं, घर का खाना मुहैया कराना मुमकिन नहीं है। लेकिन कनिका कपूर डॉक्टर और अधिकारीयों को झूठा ठहरा रही हैं।

बता दें, कि कनिका कपूर ने ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ को दिए ‘इंटरव्यू’ में कहा कि ‘आइसोलेशन सेंटर’ में डॉक्टरों द्वारा  उनके साथ बहुत बुरा व्यवहार किया जा रहा है। उन्हें ठीक से खाना और पीने का पानी तक नहीं मुहैया कराया जा रहा है, मुझे खाने में दो केले और अशुद्ध पानी दिया जा रहा है।  जब मैंने उनसे मेरे साथ हो रहे ऐसे व्यवहार को लेकर सवाल पूछा तो, उन्होंने मुझसे कहा कि ‘ये कोई तुम्हारा फाइव स्टार होटल नहीं है’।

यह भी पढ़ें-कोरोनावायरस पीड़ित कनिका कपूर को लापरवाही पड़ी महंगी, दर्ज हुआ मामला

उन्होंने आगे कहा कि मुझपर ‘ट्रेवल हिस्ट्री’ छिपाने और बीमारी ना बताने के लिए एफआईआर दर्ज की गई है, ऐसा बार-बार बोलकर मुझे धमकाया जा रहा है। मेरे कमरे में बिल्कुल भी साफ़ -सफाई नहीं है। जिसके कारण कमरे में धूल और मच्छरों का भंडार है, मुझे इस कमरे में जेल जैसा प्रतीत हो रहा हैं, मेरे साथ डॉक्टर और अधिकारीयों द्वारा एक अपराधी जैसा वर्ताव किया जा रहा है।

 

Advertisement