होम » रिव्यू » वन डे जस्टिस डिलीवर्ड मूवी रिव्यू

Advertisement

वन डे जस्टिस डिलीवर्ड मूवी रिव्यू: कानून और अदालत पर सवाल उठाती है यह फिल्म

मंझे हुए अदाकार अनुपम खेर अब फिल्म वन डे जस्टिस डिलीवर्ड लेकर हाज़िर हैं। ट्रेलर देख फिल्म किसी गंभीर विषय पर आधारित होने के संकेत मिले थे।

42
  • सिनेमा – वन डे जस्टिस डिलीवर्ड
  • सिनेमा प्रकार – क्राइम थ्रिलर
  • अदाकार – अनुपम खेर, ईशा गुप्ता, कुमुद मिश्रा, ज़ाकिर हुसैन
  • निर्देशक – अशोक के नंदा
  • अवधि – 2 घंटे 4 मिनट

Advertisement

प्रस्तावना

मंझे हुए अदाकार अनुपम खेर अब फिल्म वन डे जस्टिस डिलीवर्ड लेकर हाज़िर हैं। ट्रेलर देख फिल्म किसी गंभीर विषय पर आधारित होने के संकेत मिले थे। आइये देखते हैं फिल्म में वाकई वो बात है भी या नहीं।

कहानी

झारखंड के रिटायर्ड जज जस्टिस त्यागी (अनुपम खेर) की बेटी की में से अचानक डॉक्टर अजय (मुरली शर्मा) और उनकी पत्नी डॉक्टर रीना (दीपशिखा नागपाल) गायब हो जाते हैं। इंस्पेक्टर शर्मा (कुमुद मिश्रा) जांच शुरू करता है। तभी हॉटेलियर पंकज सिंह (राजेश शर्मा) भी ग़ायब हो जाता है। जब मामला बेहद पेचीदा और गंभीर हो जाता है तब क्राइम ब्रांच की ऑफिसर लक्ष्मी राठी (ईशा गुप्ता) को केस सौंपा जाता है। लक्ष्मी राठी के आने के बाद भी कई लोग लापता होते हैं। इन लोगों के ग़ायब होने के पीछे किसका हाथ होता है? क्या लक्ष्मी राठी मामले को हल कर पाती है या नहीं यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

अदाकारी

अनुपम खेर ने जस्टिस की भूमिका के साथ पूरा जस्टिस किया है। ईशा गुप्ता एक बार फिर कुछ ख़ास कमाल नहीं कर पाईं। कुमुद मिश्रा, ज़ाकिर हुसैन और राजेश शर्मा प्रभावित करते हैं।

निर्देशन और छायांकन

अशोक नंदा ने निर्देशन किया है तो इन्द्रजीत बंसल और अरविंद सिंह ने छायांकन की बागडोर संभाली है। दोनों को अपने काम पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।

संगीत

फिल्म का संगीत बेहद कमज़ोर है। बैकग्राउंड स्कोर भी ठीक-ठाक ही है।

 

30%
निराशाजनक

वन डे जस्टिस डिलीवर्ड मूवी रिव्यू

ऊपर दी गई जानकारी के अनुसार आप स्वयं निर्णय लें।

  • Rating

Advertisement