Advertisement

सोते-सोते अचानक रोने लगती थीं शमा सिकंदर, हनी सिंह भी हो गए थे इस बीमारी के शिकार

कोरोनावायरस वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। हालांकि घरों में लगातार कैद रहने से लोगों को मानसिक दिक्‍कतों का भी सामना करना पड़ सकता है।

905

कोरोनावायरस ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। इतना ही नहीं इस वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। हालांकि घरों में लगातार कैद रहने से लोगों को मानसिक दिक्‍कतों का भी सामना करना पड़ सकता है। दरअसल, इस बीमारी को बाइपोलर डिसऑर्डर कहा जाता है। यह एक ऐसी मानसिक स्थिति होती है जिसमें मरीज को जबरदस्त मूड स्विंग होते हैं। बता दें, यह बीमारी मशहूर सिंगर यो यो हनीं सिंह (Yo Yo Honey Singh) के साथ कई लोगों को अपना शिकार बना चुकी है। देखें इधर…

Advertisement

जानें क्‍या होता है कि इस बीमारी से…

इससे बीमारी से पीड़ित व्‍यक्‍ति का भावनात्‍मक स्तर कभी बेहद हाई (हाइपोमेनिया) या बेहद लो (डिप्रेशन) महसूस करते हैं। इस मानसिक बीमारी के कारण पीड़ित की हालत काफी खराब हो जाती है।

हनी सिंह

साल 2015 मशहूर रैपर और सिंगर हनी सिंह (Yo Yo Honey Singh) के लिए बेहद बुरा साबित हुआ था। बता दें, सिंगर उस वक्‍त तनाव के चलते बेहद अकेले रहने लगे थे।

अपनी इस स्‍थिती पर कुछ हनी सिंह ने खुद बताया था कि एक जो शख्‍स कभी बीस हजार की भीड़ के सामने परफॉर्म करता था। लेकिन उस वक्त वह चार-पांच लोगों को ही देखकर परेशान होने लगता था। उन्‍हें बाद में पता चला कि वह बाइपोलर डिसऑर्डर का शिकार हो गए थे।

शमा सिकंदर

View this post on Instagram

If you want to be original, be ready to be copied….

A post shared by Shama Sikander (@shamasikander) on

टीवी की चर्चित एक्‍ट्रेस शमा सिकंदर (Shama Sikander) भी बाइपोलर डिसऑर्डर का शिकार हो चुकी हैं। रिपोर्ट्स की मानें तो शमा सिकंदर एक साल तक तो वह समझ ही नहीं पाईं कि उनको आखिर हो क्या रहा है। वह हमेशा परेशान और डार्क फील करती थी।

इस पूरे घटनाक्रम पर शमा ने बताते हुए कहा था, ‘मुझे अपनी हालत का कोई कारण नहीं पता था लेकिन मैं बेहद अलग और अजीब महसूस कर रही थी। कई बार रात को सोते-सोते उठ जाती और बिना किसी कारण रोने लगती थी।’

Advertisement