होम » समाचार » सौतेले पिता को लेकर दीया मिर्जा ने किया चौंकाने वाला खुलासा, कहा “मेरे सौतेले पिता एक..”

Advertisement

सौतेले पिता को लेकर दीया मिर्जा ने किया चौंकाने वाला खुलासा, कहा “मेरे सौतेले पिता एक..”

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्जा  (Dia Mirza)  इन दिनो अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। कुछ दिनो पहले दिया ने पति साहिल संघा (Sahil Sangha) संग अलग होने का ऐलान कर फैन्स को हिला कर रख दिया था। वहीं अब उन्होंने हाल ही में अपने सौतेले पिता के बारे में चुप्पी तोड़ी और किया बड़ा खुलासा।

701

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्जा  (Dia Mirza)  इन दिनो अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। कुछ दिनो पहले दिया ने पति साहिल संघा (Sahil Sangha) संग अलग होने का ऐलान कर फैन्स को हिला कर रख दिया था। वहीं अब उन्होंने हाल ही में अपने सौतेले पिता के बारे में चुप्पी तोड़ी। उन्होंने बताया कि बचपन में उन्होंने अपने माता-पिता को कई तरह की परेशानियो का सामना करते हुए देखा है।

Advertisement

पिंकविला से बातचीत के दौरान दीया ने बताया कि “एक बच्चे के रूप में, मुझे याद है कि मेरे माता-पिता कि दोनो किस तरह से संघर्ष कर रहे थें। एक साथ न रहने के लिए दोनो समाधान ढूंढने की कोशिश कर रहे थें। उन्होंने एक-दूसरे की बहुत देखभाल और एक-दूसरे से प्यार करते थे। वे बस एक साथ नहीं रह सकते थे क्योंकि वे जीवन से अलग चीजें चाहते थे और कभी-कभी, ऐसा होता है।”

दीया आगे कहती हैं, “मेरे सौतेले पिता एक उदाहरण पेश करने वाले इंसान थे। उन्हें पिता के रूप में स्वीकार करने में मुझे बहुत समय लगा। लेकिन उन्होंने जो किया वह समझदारी से किया, वह मुझसे दोस्ती कर रहे थे। 18 साल की उम्र में हैदराबाद छोड़ने और उन्हें और उनकी देखभाल छोड़ने से ज्यादा मेरा दिल नहीं टूटा।”  जब मैं 9 साल की थी तब मैंने अपने जन्म देने वाले पिता को खो दिया था, मैंने 23 साल की उम्र में अपने सौतेले पिता को खो दिया था। जिंदगी को समझने में मुझपर दोनों पुरुषों का गहरा प्रभाव था।”

[यह भी पढ़ें: तलाक के बाद लोगों की प्रतिक्रियाओं पर दीया ने तोड़ी चुप्‍पी, कहा- “लोग आपको झूठी..”]

वहीं इंटरव्यू में दीया ने साहिल संग तलाक को लेकर कहा “आप एक ऐसे सर्कल में होते हैं जहां लोग पढ़े-लिखे होने के बाद भी आपको झूठी तसल्ली देते हैं। कई बार लोग पूछते हैं कि तुम ऐसी स्थिति इतनी स्ट्रॉन्ग कैसे हो और ऐसे में कैसे काम करती हो। ऐसे में मेरा बस उनसे यही कहना होता है कि मैं अपनी राह ढूंढती हूं और उम्मीद करती हूं कि आप भी अपना रास्ता ढूंढ पाएं।”

Advertisement