Advertisement

रामायण के नाम पर इतना झूठ क्यों परोस रहा है दूरदर्शन? फ़र्जिवाड़े की खुली पोल

दूरदर्शन का रामायण(Ramayan) सिर्फ देश का नहीं बलिक दुनिया का सबसे ज्यादा देखे जाने वाला शो का दावा गलत साबित हुआ

8,900

सरकार ने कोरोना महामारी(Corona virus) लॉकडाउन(Lock down) में लोगों के मनोरंजन के लिए 80-90 के दशक के मशहूर पौराणिक शो रामायण(Ramayan) का दूरदर्शन(Doordarshan)  पर रिपीट टेलीकास्ट करने का फैसला लिया था। रामायण का रिपीट टेलीकास्ट सुपरहिट रहा और दर्शकों ने शो को बेहतरीन रिस्पांस दिया। पर कुछ दिन पहले यह खबर फैली थी कि,  ‘रामायण’ सिर्फ देश का नहीं बलिक दुनिया का सबसे ज्यादा देखे जाने वाला शो बन गया।

Advertisement

रामायण के सबसे सुपरहिट शो होने की जानकारी दूरदर्शन ने अपने ‘ऑफिसियल ट्विटर अकाउंट हैंडल’ से वीडियो जारी कर  लोगों के साथ शेयर की थी। अब दूरदर्शन का यह दावा खोखला और आधारहीन नजर आ रहा है। दुनिया का सबसे ज्यादा देखे जाने वाला शो का रिकॉर्ड ‘रामायण’ के नाम नहीं बल्कि 80 के दशक के अमेरिकी शो ‘मैश’ के नाम है।

दरअसल, 30 अप्रैल को दूरदर्शन ने दावा किया था कि, ‘रामायण’ ने दुनिया के मशहूर शो जैसे कि ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’, ‘बिंग बैंग थ्योरी’ और ‘इंग्लिश प्रीमियर लीग’ को विवरशिप के मामले में पीछे छोड़ दिया। दूरदर्शन का यह दावा सही था । पर रामायण दुनिया का सबसे  ज्यादा ‘विवरशिप’ वाला शो बन गया यह दावा गलत था। भारत में टीवी शोज के टीआरपी पर नजर रखने वाली एजेंसी BARC ने बताया था कि,16 अप्रैल को लक्ष्मण और मेघनाद के बीच हुए युद्ध वाले एपिसोड को तक़रीबन 7करोड़ 70 लाख लोगों ने देखा था।

वहीं न्यूज़ वेबसाइट लाइवमिंट में छपी एक खबर के अनुसार 28 फरवरी 1983 को प्रसारित हुए अमेरिकी शो ‘मैश’ के आखिरी एपिसोड को 10 करोड़ 60 लाख लोगों ने एक साथ देखा था। इससे साफ होता है कि, दूरदर्शन ने रामायण द्वारा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का दावा किया था, वह गलत साबित हुआ।

 

यह भी पढ़ें- टीवी के राम के लिए रामायण का ये सीन करना था बेहद मुश्किल, ख़ुद बताया कैसे छूट गए थे पसीने

बता दें कि, लॉकडाउन में रामायण और महाभारत जैसे पौराणिक शोज की वापसी ने दूरदर्शन की टीआरपी को चार चांद लगा दिए है। पिछले कुछ दिनों में दूरदर्शन की टीआरपी अपने चरम स्तर पर पहुंच चुकी है। बॉलीवुड जगत से जुड़ी ऐसी चटपटी खबरों के लिए बॉलीवुड बबल हिंदी के साथ बने रहियें।

Advertisement