Advertisement

ये रिश्ता क्या कहलाता है अपडेट: लव और कुश को मिली अपराध की सज़ा, परेशान हुई नायरा

ये रिश्ता क्या कहलाता है  (Yeh Rishta kya Khalata hai) में मनिष लव और कुश को सजा के तौर पर घर से दूर गांव में जाकर एक एनजीओ में बीमारों और बुजुर्गो की सेवा करने के लिए कहते हैं। इस बेसिक सजा से नायरा हुई परेशान।

172

ये रिश्ता क्या कहलाता है  (Yeh Rishta kya Khalata hai) में 17 फरवरी को दिखाया गया कि नायरा परेशान है त्रिशा के किए अपने वादे को लेकर। नायरा ने त्रिशा को उसके आरोपियों को सजा देने का वादा किया था। परेशान नायरा को कार्तिक संभालने की कोशिश करता है।

Advertisement

मनिष लव और कुश को सजा के तौर पर घर से दूर गांव में जाकर एक एनजीओ में बीमारों और बुजुर्गो की सेवा करने के लिए कहते हैं। इसके साथ ही बेसिक चीजों को छोड़कर लव और कुश को कोई भी सुविधा नहीं मिलेगी। कार्तिक लव और कुश को कहता है कि उन्हें दो साल तक ये करना होगा। इस दौरान दोनो घर वापस नहीं आएंगे साथ ही कॉलेज भी नहीं जाएंगे। दादी नायरा से कहती है कि त्रिशा को कहना होगा कि वह पुलिस को कुछ भी न बताएं।

[यह भी पढ़ें: ये रिश्ता क्या कहलाता है अपडेट: त्रिशा संग छेड़छाड़ करने वाले लव-कुश को कार्तिक ने दी ये सजा]

नायरा कार्तिक से पुछती है कि लव कुश को जो सजा मिली है क्या वह सही है? कार्तिक कहता है और कितनी सख्ती बरती जाए। पुलिस के सजा देने से त्रिशा का दर्द कम नहीं होगा। कार्तिक की बात से नायरा हैरान हो जाती है। दादी सबको महाशिवात्रि के लिए उपवास रखने के लिए कहती है। सुरेखा और बाकि घर वाले कार्तिक को नायरा को रोकन के लिए कहते हैं कि कही वह जाकर पुलिस को फोन न कर दे।

लव कुश को समझाता है कि पुलिस में जाने से बेहतर है एनजीओ में जाकर काम का नाटक करेंगे। दोनो कार्तिक के सामने अपनी गलती के लिए एक पछतावा करने का नाटक करते हैं। एक बार फिर नायरा और कार्तिक लव और कुश की सजा के लिए बहस करते हैं। कार्तिक

 

Advertisement